Chapter -3 उपभोक्ता संतुलन – उपयोगिता विश्लेष्ण

12th Hindi Medium
  उपयोगिता किसी वस्तु में संतुष्ट करने की शक्ति उपयोगिता कहलाती है I   कुल उपयोगिता एक वस्तु की सभी इकइयो का उपभोग करने से जो उपयोगिता प्याप्त होती है I उसके जोड़ को कुल उपयोगिता कहते है I   सीमांत उपयोगिता किसी वस्तु की अतिरिक्त इकाई का उपभोग करने से प्राप्त उपयोगिता के जोड़ को सीमांत उपयोगिता कहते है I   MU = TUn – TUn-1     कुल उपयोगिता तथा सीमांत उपयोगिता में सम्बंध     Q TU MU 0 1 2 3 4 5 6 0 8 14 18 20 20 18 - 8 6 4 2 0 -2   जब सीमांत उपयोगिता धनात्मक है तो कुल उपयोगिता बढती जाती है I   जब कुल उपयोगिता अधिकतम है तब सीमांत उपयोगिता शून्य होती है I   जब…
Read More

Chapter-2 अर्थव्यवस्था की केन्द्रीय समस्याए

12th Hindi Medium
एक अर्थव्यवस्था की मुख्य रूप से तीन समस्याए है :- (i) क्या उत्पादन किया जाए (ii) कैसे उत्पादन किया जाए (iii) किसके लिए उत्पादन किया जाए     क्या उत्पादन किया जाए यह अर्थव्यवस्था की पहली केन्द्रीय समस्या है जो कि वस्तुओ के उत्पादन से सम्बन्धित है I यह मुख्यतः दो प्रकार की होती है :- उपभोक्ता वस्तु :- पूंजीगत वस्तुए :-   कैसे उत्पादन किया जाए कैसे उत्पादन किया जाए अर्थव्यवस्था की दूसरी केन्द्रीय समस्या है I जो कि मुख्यतः दो प्रकार की तकनीक होती है :- श्रम प्रधान तकनीक : पुंजी प्रधान तकनीक :   किसके लिए उत्पादन करें यह अर्थव्यवस्था की तीसरी केन्द्रीय समस्या है यह समस्या उत्पादन के वितरण से सम्बन्धित है I जिसको गरीब या आमिर में वितरित करना होता है I    आमिर वर्ग…
Read More

Chapter-1 अर्थशास्त्र एवं अर्थव्यवस्था

12th Hindi Medium
अर्थशास्त्र अर्थशास्त्र दुर्लभ संसाधनो के इष्टतम प्रयोग का इस प्रकार अध्धयन करता है, जिससे कि व्यष्टि स्तर पर व्यक्तिगत लाभ अधिकतम हो सके तथा समष्टि स्तर पर आर्थिक लाभ अधिकतम हो सके I उत्पादन के साधन वे साधन जो उत्पादन में सहयोग करते है एवं उत्पादन क्रिया को सम्पूर्ण करते है उत्पादन के साधन कहलाते है I उदाहरण : भूमि, श्रम, पुंजी, उद्दम उत्पादन के साधनों की विशेषताए :- (i) संसाधन सिमित है I (ii) संसाधनो के वैकल्पिक प्रयोग है I जैसे :- दूध से पनीर, खोया, चाय, दही इत्यादि में प्रयोग I आर्थिक समस्या क्या है ? इसके उत्पन्न होने के कारण बताइए :- आर्थिक समस्या मूलतः चयन की समस्या है I इसके उत्पन्न होने के निम्नलिखित कारण है :- (i) संसाधन सीमित है :- (ii) असीमित इच्छाए :…
Read More

12th Micro Economics Chapter  1 अर्थशास्त्र एवं अर्थव्यवस्था

12th Hindi Medium
    उत्पादन के साधन :- वे साधन जो उत्पादन में सहयोग करते है एवं उत्पादन क्रिया को सम्पूर्ण करते है उत्पादन के साधन कहलाते है I उदाहरण : भूमि, श्रम, पुंजी, उद्दम I   साधन आय :- उत्पादन के साधनों को उनकी सेवाओ के बदले जो आय प्राप्त होती है साधन आय कहलती है I भूमि – किराया/लगान श्रम – मजदूरी पुंजी – ब्याज उद्दम – लाभ   उत्पादन के साधनों की विशेषताए :- (i) संसाधन सिमित है I (ii) संसाधनो के वैकल्पिक प्रयोग है I जैसे :- दूध से पनीर, खोया, चाय, दही इत्यादि में प्रयोग I   अर्थव्यवस्था :- अर्थव्यवस्था वह नीति है जिससे लोगो को रोजगार प्राप्त होता है I   अर्थशास्त्र :- अर्थशास्त्र दुर्लभ संसाधनो के इष्टतम प्रयोग का इस प्रकार अध्धयन करता है, जिससे…
Read More

12th Micro-Economics CHAPTER 7 -उत्पादन फलं और एक साधन के प्रतिफल

12th Hindi Medium
  उत्पादन फलन:- इससे अभिप्राय भोतिक आगतो (साधन) तथा भोतिक निर्गतो (उत्पादन ) के बीच पाए जाने वाले सम्बंध से है I अल्पकाल:- यह समय की वह अवधि है जिसमे एक साधन परिवर्तनशील तथा बाकि सभी स्थिर होते हैं I   दीर्घकाल:- यह समय की वह अवधि है जिसमे सभी साधन परिवर्तनशील होते हैं I   साधनों के प्रकार:- साधन दो प्रकार के होते है :- (i) स्थिर साधन:- यह वे साधन है जिनका प्रयोग उत्पादन में परिवर्तन होने से परिवर्तित नही होता I भूमि और मशीन स्थिर साधन है I   (ii) परिवर्ती साधन :- यह वे साध्यं है जो उत्पादन में परिवर्तन के अनुसार इन्हें परिवर्तित क्र सकते है I जेसे – श्रम , श्रम को आवश्यकतानुसार बढ़ाया व घटाया जा सकता है I   कुल उत्पादन:- परिवर्ती…
Read More